(उप) भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश 2019 ऑनलाइन फार्म pdf

भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश 2019,यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन फार्म pdf, भाग्यलक्ष्मी योजना 50,000 प्राप्त करे, योगी भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश, Bhagyalakshmi Yojana online registration.

योगी सरकार ने अपने चुनावी दिनो के वादे पूरे करने के लिए अब उत्तर प्रदेश मे एक नई योजना की शुरुआत की है। इस नई योजना को “भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश 2019” का नाम दिया गया है। यह एक उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई एक सरकारी योजना है। इस योजना के तहत बीपीएल परिवार मे जन्म लेने वाली बेटी के परिवार को 50 हजार रुपए तक की आर्थिक सहायता दी जाएगी। यह 50 हजार की राशि राज्य सरकार द्वारा दी जाएगी। इस योजना को सुचारु रूप से चलाने के लिए हर प्रकार के कार्य को पूरा कर लिया गया है। और अब तो कई लोग उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत लाभ ले भी चुके है। यदि आप भी भाग्यलक्ष्मी उत्तर प्रदेश योजना के बारे मे अधिक जानना चाहते है तो पोस्ट को पढे।

भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश

बेटियो को आज भी हिन्दू समाज मे देवी का दर्जा दिया गया है। परंतु बढ़ती महंगाई को देख कर या फिर गरीबी के चलते लोग बेटियो को बोझ समझने लग पड़े है। गरीब परिवार को बेटी की पढ़ाई के साथ साथ उसकी शादी की भी चिंता लगी रहती है। एसे मे अब वही लोग देवी समान बेटी को कोख मे ही मारने लग पड़े है।

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना

लोगो को बेटी के जन्म के लिए प्रोत्साहित करने के लिए इस भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत बेटी के जन्म पर, बेटी के परिवार को करीब 50 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इन पैसो को पाने के बाद आपको बेटी की पढ़ाई की चिंता बिलकुल खतम हो जाएगी। अब बेटियाँ बोझ नहीं है। इस योजना के यदि आप भी लाभ पाना चाहते है तो सबसे पहले आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा। फिर उसके बाद ही यह 50,000 रुपए का बॉन्ड बेटी की माता के नाम पर बनाया जाएगा।

योजना का पूरा नाम उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना ।
प्रोत्साहन राशि:  50 हजार रुपए ।
आवेदन कैसे करना है ऑनलाइन
लाभार्थी बीपीएल परिवार मे बेटी के जन्म पर
आवेदन करे  क्लिक

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के लाभ

इस योजना से गरीब परिवार अब बेटी के पढ़ाई से लेकर शादी तक का कोई बोझ नहीं पड़ेगा। वह अब इस सहायता से बेटी की पढ़ाई का अपुरा खर्च उठा सकते है। अगर बेटी अच्छे से पढ़ जाएगी तो वो खुद कमा कर आपको देगी। तो अच्छी सोच के साथ आप इस योजना के साथ जुड़ कर लाभ ले सकते है। इससे देश मे लिंग अनुपात भी कम होगा।

उप भाग्यलक्ष्मी योजना की पात्रता

  1. इस योजना का लाभ केवल बीपीएल परिवार ही ले सकता है। जब उनके घर बेटी का जन्म होगा तब।
  2. आवेदक परिवरा की बार्षिक आय 2 लाख रुपए से ज्यादा ना हो।
  3. इस योजना के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि 50 हजार रुपए बॉन्ड के रूप मे दिया जाएगा। और यह बॉन्ड बेटी के माता के नाम पर दिया जाएगा।
  4. 50 हजार रुपए के साथ साथ बेटी की माता को 5100 रुपए की एक और आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  5. इस योजना की सारी जिम्मेबारी उत्तर प्रदेश के महिला कल्याण विभाग को दिया गया है। और वही आपको पैसा भी जारी करेगा।
  6. जब लड़की शादी के लायक 21 साल की हो जाती है तब इस योजना के तहत उसकी शादी के लिए भी 2 लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

बस अब हम यही चाहते है की ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना का लाभ ले और बेटियो को आगे लाये।

भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत जारी किशत

  • इस योजना के तहत कुल राशि 50 हजार रुपए दिये जाएंगे ।
  • 6वी कक्षा मे दाखिला लेते समय इस योजना के तहत बेटी को करीब 3000 रुपए तक की आर्थिक सहयाता दी जाएगी।
  • और कक्षा 8वी मे पहुचने पर भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत उसे पढ़ाई के खर्च के लिए 5000 रुपए दिये जाएंगे ।
  • 10वी कक्षा मे करीव 7000 रुपए राज्य सरकार की तरफ से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
  • कक्षा 12 मे बेटी की पढ़ाई के लिए 8000 रुपए की राशि दी जाएगी। ताकि बेटी अपनी पढ़ाई को अच्छे से पूरा कर सके।
  • और 21 बर्ष पूरे होने पर इस योजना के तहत उसकी शादी के लिए 2 लाख रुपए दिये जाएंगे ।

भाग्यलक्ष्मी योजना के लिए दस्तावेज़ सूची

  1. बेटी का जन्म प्रमाण पत्र ।
  2. माता पिता का पहचान पत्र।
  3. परिवार का आय प्र्मान पत्र।
  4. राशन कार्ड बीपीएल प्रमाण पत्र ।
  5. माता का बैंक खाता।

भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश 2019 ऑनलाइन फार्म pdf

  1. तो जो भी परिवार उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत लाभ लेना चाहते है तो उत्तर प्रदेश के महिला कल्याण विभाग से आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते है।
  2. वहा पर आपको भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश एप्लिकेशन फॉर्म पर क्लिक करना है।
  3. इस फॉर्म को ध्यान से पढ़ कर भरना है। और साथ मे दस्तावेज़ को भी सलगन कर दे। और जमा करवा दे।

जहा एक और लड़कियो को लक्ष्मी का रूप माना जाता है, वही दूसरी और लोग लड़की पैदा नहीं करना चाहते । क्योकि वो लड़कियो को बोझ समझते है। परंतु अब ईएसए नहीं। राज्य सरकार ने लड़कियो के जन्म से लेकर उनकी शादी तक के लिए इतनी योजनाओ की शुरुआत कर रखी है, जिसके लिए अब उनके घर वालो इसके लिए चिंता करने की जरूरत नहीं। अब हर घर मे एक लक्ष्मी का जन्म होगा।

तो पाठको अगर आप उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत किसी भी प्रकार के सुझाव देना चाहते है तो दे सकते है। अन्य किसी प्रकार की सहायता के लिए हमसे बात करे।

Share This Post on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *