मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना 2019-20 खरीफ/तिल रजिस्ट्रेशन

मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना 2019-20, मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना, भावांतर योजना खरीफ/तिल रजिस्ट्रेशन, भावांतर योजना का भुगतान, भावांतर योजना पंजीयन, भावांतर भुगतान योजना हेल्पलाइन नंबर, Bhavantar Bhugtan Yojana MP Registration.

प्रिय पाठको अगर आप भी मध्य प्रदेश के निवासी है तो आप इस आर्टिक्ल को  जरूर पढे.। हाल ही मे मध्य प्रदेश की राज्य सरकार ने किसान भाई के कल्याण और उनकी खेती को और बेहतर बनाने के  लिए एक नई योजना शुरू की है। इस नई योजना को “मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना” का नाम दिया है। इस योजना के तहत किसानो को उनके बेहतर भविष्य को बनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस योजना के तहत मध्य प्रदेश के सभी किसानो को उनकी खेती की  उपज को उचित मूल्य प्रदान करना है। जिसके लिए मध्य प्रदेश के राज्य शासन की तरफ से कई प्रकार के प्रयास किए जा रहे है।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना को पूर्ण रूप से चलाने के लिए राज्य सरकार क्रियान्वित हो गई है। इस योजना को खरीफ 2019 की पायलट योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा के बाद ही इसे अगले फसल चक्र के लिए चलाने का निर्णय लिया गया है। यह योजना से सच मे पूरे राज्य के हर किसान को लाभ होने वाला है। तो अगर आप भी इस योजना के तहत लाभ लेना चाहते है तो आपको मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के तहत ऑनलाइन पंजीकरण करवाना जरूरी है।

मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना 2019-20

यह योजना को मध्य प्रदेश की राज्य सरकार ने पूरे प्रदेश के किसानो को लाभ देने के लिए शुरू किया है। इस योजना के तहत किसानो को उनकी फसल के लिए राज्य सरकार उचित मूल्य प्रदान की जाएगी। जैसा की हम सभी जानते है की कृषि उत्पाद की मूल्य बिक्री अधिसूचित कीमत से बहुत अधिक है। लेकिन यह मूल्य एमएसपी से बहुत ही कम है। और जो यह बिक्री मूल्य और एमएसपी के बीच  जो अंतर आता है, उसका भुगतान राज्य सरकार की तरफ से किया जाएगा। जोकि यह भुगतान राज्य सरकार की तरफ से किसानो के खाते मे सीधा जमा किया जाएगा।

मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना

इस भावांतर भुगतान योजना के तहत मध्य प्रदेश सरकार ने कुल 8 फसल को शामिल किया गया है। इनकी सूची अब हम आपको दे दी गई है।

  1. तुअर दाल ।
  2. मूंग उड़द ।
  3. सोयाबीन ।
  4. मूँगफली ।
  5. मक्का ।
  6. राम तिल ।
  7. तिल ।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के लाभ और उद्देश्य

इस योजना के तहत किसानो को उनकी फसलों के लिए उचित मूल्य दिये जाएंगे। इस चीज़ को इस बार खुद राज्य सरकार सुनिचित कर रही है।
इस योजना के अंतर्गत बिक्री मूल्य और समर्थन मूल्य के बीच जो भी अंतर आयेगा, उसका भुगतान राज्य सरकार मध्य प्रदेश करेगी। और यह अंतर का पैसा सीधा किसानो के खाते मे आयेगा।
आप इस योजना की जानकारी अपने मोबाइल मे फसल गिरदावरी मोबाइल ऐप को डाउनलोड करके ले सकते है।
इस योजना के तहत शामिल की गई फसलों की कीमत को ,मध्य प्रदेश कृषि उत्पाद लागत और विपानन आयोग करेगा।
आपको मूल्य का भुगतान 3 महीने के अंदर ही कर दिया जाएगा।

भावांतर भुगतान योजना का हेल्पलाइन नंबर

इस योजना को सुचारु रूप से चलाने के लिए और किसानो की परेशानियों को दूर करने के लिए एक कंट्रोल रूम बनाया गया है। जिसके लिए एक हेल्पलाइन नंबर तैयार किया गया है। 0755-2550495 हेल्पलाइन नंबर है इसपे आपको सुबह 7 बजे  से 11 बजे तक ही सेवा मिलेगी।

खरीफ की फसल 2019 के समर्थन मूल्य की जानकारी

  • सोयाबीन : 3,399 रुपए/क्विंटल ।
  • मक्का : 1700 रुपए।क्विंटल ।
  • उड़द : 5600 रुपए/क्विंटल ।
  • मूंग : 6,975 रुपए/क्विंटल ।
  • मूँगफली: 4890 रुपए/क्विंटल ।

रबी की फसल 2019 के समर्थन मूल्य की जानकारी

  • लहूसन: 3200 रुपए/क्विंटल ।
  • चना : 4400 रुपए/क्विंटल।
  • मसूर : 4200 रुपए/क्विंटल ।
  • सारसो : 4000 रुपए/क्विंटल ।

मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के लिए जरूरी दस्तावेज़

  • किसान का आधार कार्ड
  • किसान की समग्र आईडी
  • किसान का खुद का मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक ।
  • पंजीकरण के बाद खरीदी के समय की प्रिंट।
  • भूमि पंजीकरण के दस्तावेज़ ।
  • ऋण पासबुक

मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना किसान रजिस्ट्रेशन

  1. अब हम आपको मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन की पूरी प्रक्रिया की जानकारी देने जा रहे है।
  2. ऑनलाइन पंजीकरण के लिए आपको सबसे पहले एमपी ई-उपाजन की आधिकारिक वैबसाइट पर जाना होगा जोकि http://mpeuparjan.nic.in है ।
  3. यहा पर आपको गेहु 2019-20 के लिंक पर क्लिक करना होगा ।
  4. अब यहा से आप किसान पंजीयन के लिए आवेदन कर सकते है।

तो आप कमेंट करके बता सकते है की आपको मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना की जानकारी कैसी लगी। अगर आपको ऑनलाइन पंजीकरण करने मे किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई आ रही है तो आप हमसे पूछ सकते है। आप आधिकारिक हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके भी ले सकते है। 

 

Share This Post on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *