ऊँट पालन योजना राजस्थान 10 हजार रु अनुदान-आवेदन फार्म

ऊँट पालन योजना राजस्थान, उष्ट्र विकास योजना राजस्थान, राजस्थान ऊंट पालन योजना 10 हजार रु अनुदान, ऊंट पालन अनुदान आवेदन फार्म ऑनलाइन , Camel Farming Scheme Rajasthan, Camel Farming In India.

राजस्थान के प्यारे वासियो जैसा की आपको पता है की ऊंट आपके राज्य का एक राज्य पशु है। परंतु जैसे जैसे हम लोग आगे बढ़ रहे है वैसे ही राज्य मे राज्य पशु को संख्या दिन प्रति दिन घटती जा रही है। इस ऊँटो को घटती संख्या को देखर राज्य सरकार ने ऊंट पालन योजना को शुरू किया  है। यह ऊंट पालन योजना राजस्थान के उष्ट्र विकास योजना विभाग की तरफ से शुरू की गई है। इस योजना के तहत जो भी ऊंट पालन होगा उसे राज्य सरकार की तरफ से आर्थिक सहयता भी दी जाएगी।

अगर आप भी ऊंट पालन योजना के तहत भाग लेना चाहते है तो आपके लिए यह पोस्ट बहुत ही फायदेमंद होने वाली है। आज हम आपको इस पोस्ट के मध्य से आपके राजकीय पशु ऊंट पालन से जुड़ी हर जानकारी देने जा रहे है। की कैसे आप इस योजना के तहत आवेदन कर सकते है और लाभ ले सकते है। आपको यह पोस्ट पूरी पढ़ना जरूरी है। आधी जानकारी से ना तो आपको इस योजना के फायदे समझ आएंगे और ना ही लाभ होगा। तो आइए जाने ऊंट पालन योजना के बारे मे ।

ऊँट पालन योजना राजस्थान

राजस्थान के राज्य पशु ऊंट की एक अलग ही पहचान है। जब भी हमारे मन मे ऊंट का ख्याल आता है तो सिर्फ राजस्थान ही दिमाग मे आता है। क्या होगा जब आपको राजस्थान मे भी ऊंट देखने को नहीं मिलेंगे। इसलिए राजस्थान की सरकार ने ऊँटो को बचाने और उनकी संख्या को बढ़ाने के लिए ऊंट पालन योजना की शुरुआत की है। इस ऊंट पालन योजना राजस्थान की शुरुआत , उष्ट्र विकास योजना विभाग के साथ मिलकर शुरू की है।

ऊँट पालन योजना राजस्थान

पशुपालन विभाग ने ऊंट पालन योजना को सिर्फ ऊँटो की संख्या को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया है। ताकि ऊंट पालको की भी राज्य सरकार की तरफ से आरथी मदद दी जाएगी। और साथ मे राज्य मे अपने राज्य पशु ऊंट को संख्या मे भी बढ़ौतरी ही जाएगी। तो जो भी ऊंट पालन इस योजना के तहत लाभ लेना चाहते है उन्हे पशु चिकित्सालय मे पंजीकारन करवाना बहुत ही आवशयक है।

राजस्थान उष्ट्र विकास योजना

करीब एक साल पहले ऊँटो की घट रही संख्या को दूर करने के लिए राज्य सरकार ने उष्ट्र विकास योजना की शुरुआत की थी। लेकिन लोगो का रुझान ऊंट पालन की तरफ जरा भी नहीं है। इसीलिए ऊँटो की संख्या दिन प्रति दिन कम हो रही है। उष्ट्र पालन योजना के तहत लोगो को आर्थिक सहायता राशि 10 हजार रुपए दिये जाते थे। बीते साल सिर्फ एक ही ऊंट पालक ने आवेदन किए था। जिसे पहली किशत 3 हजार रुपए जारी कर दी गई थी।

ऊंट पालन योजना के तहत मिलने वाली अनुदान राशि

इस योजना के तहट ऊंटनी के ब्याने पर पैदा हुए बच्चे के जन्म पर 10 हजार रुपए की आर्थिक सहयता दी जाती है। जिसके लिए यह राशि करीब 3 किश्तों मे दी जाती है।

प्रथम किशत मे राशि : 3 हजार रुपए ।

दूसरी किशत मे राशि: 3 हजार रुपए ।

तीसरी किशत मे राशि : 4 हजार रुपए ।

ऊंट पालन योजना के लिए आवेदन फॉर्म ऑनलाइन

इस योजना के तहत राशि पाने के लिए आपको अपने नजदीकी पशु चिकित्सालय मे पंजीकरण करवाना होगा। पंजीकरण फॉर्म आपको वही से मिल जाएगा और भर का वही सबमिट कर दीजिये। इस तरह आप ऊंट पालन योजना के तहत लाभ ले सकते है।

ऊंट पालन योजना की जानकारी आपको कैसी लगी । कृपया कमेंट करके हमे अपने विचारो से अवगत करवाए। अधिक जानकारी के लिए आप नीचे टिप्पणी बॉक्स मे कमेंट करे।

Share This Post on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *