प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2019 सोलर पंप सब्सिडी-ऑनलाइन आवेदन

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2019, सौर कृषि सोलर पंप सब्सिडी, किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं महा उत्थान अभियान, कुसुम योजना 2019 ऑनलाइन आवेदन, कुसुम योजना हिन्दी मे, Kusum Yojana Registration online.

प्रिय पाठकों आज हम आपको केंद्र सरकार से शुरू हुई एक नई योजना के बारे में बताने जा रहे हैं. इस योजना का नाम है “प्रधानमंत्री कुसुम योजना। योजना हमारे देश के किसान भाइयों के लिए शुरू की गई है। जैसा कि हमें पता है कि देश में किसानों की हालत कैसी है। मौसम की तबाही के कारण यहां शेर जंगली पशुओं के कारण उनकी खेती नहीं हो पाती है जिससे कि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं रहती है। इसीलिए अपने देश के किसानों की आमदनी को बढ़ाने के लिए मोदी सरकार ने कई प्रकार की योजनाओं की शुरुआत की हुई है। इन्हीं योजनाओं में एक योजना है कुसुम योजना। किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए केंद्र सरकार सौर ऊर्जा का उत्पादन बढ़ाने पर भी ध्यान दे रही है। इस योजना की शुरुआत जुलाई 2018 से शुरू हो चुकी है। आर्टिकल के जरिए बताएंगे कि कौन से किसान इस योजना के पात्र हैं। और योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करना है इत्यादि की जानकारी देंगे।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2019

योजना केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई एक कार्य योजना है। इस योजना के लाभार्थी हमारे देश के किसान होंगे। कुसुम योजना के तहत किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं महा उत्थान अभियान के तहत ही कुसुम योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के पूर्ण कार्य के लिए सरकार ने 2018-19 मे बजट भी पेश कर दिया गया है । इस योजना के तहत पूरे देश के किसानो को उनकी बंजर पड़ी हुई जमीन पर ही सौर परियोजना लगाने और अतिरिक्त बिजली ग्रिड बचाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। उम्मीद की जा रही है की इस योजना के तहत 28,250 मेगावाट सौर ऊर्जा का उतपादन किया जाएगा। और किसानो को करीब 25.5 लाख रुपए के सौर पम्प उपलब्ध करवाए जाएंगे।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2019

इस योजना के शुरू होने से सिंचाई मे इस्तेमाल होने वाले डीजल पम्प से छुटकारा मिलेगा। वैसे एक बात तो सही है की हमारे देश का विकास किसानो पर ही निर्भर होता है । लेकिन कई बार मौसम की मार किसानो पर भरी पद जाती है। और किसान अपनी जमीन की सिंचाई की तैयारी भी नहीं कर पाता है । परंतु अब बता दे की केंद्र सरकार की मदद से किसानो की जमीन पर अब सौर पम्प लगाए जाएंगे । जिससे की बिजली और डीजल से चलाने बाले पम्प से छुटकारा मिलेगा। और बंजर जमीन का भी इस्तेमाल हो पाएगा।

कुसुम योजना योजना की विशेषताए

  • जब भी हम खेती के बारे मे सोचते है तो सबसे पहले हमे सिंचाई के बारे मे सोचना चाहिए। सिंचाई के लिए या तो प्रकर्तिक स्त्रोत का इस्तेमाल होता हाओ या फिर पम्प का। कई किसान खेतो मे बिजली से चलाने वाले या फिर डीजल से चलाने वाले पम्प का इस्तेमाल करते है। जिससे की उन्हे काफी पैसे खर्च करने पड़ते है । परंतु अब एसा नहीं है , केंद्र सरकार अब किसानो के खेत मे सौर ऊर्जा पम्प लगवाएगी।
  • इस कुसुम योजना का पूरा नाम किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान है ।
  • इस योजना के तहत और ऊर्जा से चलाने वाले पम्प की सहायता से खेतो मे सिंचाई की जाएगी। आप इस योजना के लाभ के लिए डीजल पम्प को बदलबा सकते है और इस सौर पम्प को लगवा सकते है । इससे बिजली की खपत भी लगभग 0% होगी ।
  • जब आप इस सौर पम्प को लगवाते है तो आप बाकी की बची हुई बिजली को बेच कर अच्छा पैसा भी कमा सकते है । इससे किसानो की आय मे भी काफी सुधार होगा । यह एक वरदान है किसानो के लिए आने वाले समय मे ।
  • जो भी इच्छुक किसान इस योजना का लाभ लेना चाहते है वो भारत सरकार की आधिकारिक वैबसाइट पे जाके इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है ।

पीएम कुसुम योजना के लाभ

  1. इस योजना से किसानो की आय मे वृद्धि होगी।
  2. उनका बिजली, डीजल और पेट्रोल का खर्चा भी बचेगा।
  3. इस योजना के तहत सौर पम्प लगवाने के लिए किसानो को केवल 10% खर्च करना होगा और वाकी का 90% खर्च सरकार अपनी तरफ से करेगी।
  4. किसानो की बंजर पड़ी जमीन पर यह सौर पम्प लगाए जाएंगे।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना सोलर पंप ऑनलाइन आवेदन

  1. तो इस योजना का लाभ केवल पात्र किसान ही ले सकते है ।
  2. तो अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आवेदन कर सकते है। आवेदन के लिए आपको सबसे पहले इस योजना की आधिकारिक वैबसाइट पे जाना होगा।
  3. यहा से आप आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर , उसे भर सकते है ।
  4. आवेदन फॉर्म के साथ अपने दस्तावेज़ लगा कर भेज दीजिये।
  5. आवेदन करने के लिए वैबसाइट है : mnre.gov.in

तो अगर आप कुसुम योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी चाहते है तो ले सकते है। किसी भी प्र्शन या सुझाव के लिए कमेंट करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *