यूपी अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना 2019-20 छात्रवृत्ति फार्म

यूपी अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना 2019-20, अल्पसंख्यक छात्रवृति योजना छात्रवृत्ति फार्म, माइनॉरिटि स्कॉलर्शिप स्कीम 2019, उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक स्कालरशिप ऑनलाइन आवेदन, UP Minority Scholarship Scheme.

उत्तर प्रदेश मे अल्पसंख्यक स्कॉलर्शिप योजना की शुरुआत हुई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य मेधावी छात्रो को आर्थिक एवं सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। इस तरह की सुरक्षा प्रदान करने के पीछे का लक्ष्य है की ,अल्पसंख्यक छात्रो को उच्च शिक्षा के बेहतर अवसर प्रदान करना है। ताकि कमजोर वर्ग के लोग भी उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद, बेहतर रोजगार पा सके। वैसे तो उत्तर “यूपी अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना” की शुरुआत 2006 मे हो चुकी है। और हर साल इस योजना के तहत कई छात्र स्कालरशिप का लाभ ले रहे है। इस योजना से अल्पसंख्यक लोगो का कल्याण करना है।

इस उत्तर प्रदेश स्कालरशिप योजना के तहत राज्य के अल्पसंख्यक लोगो को बाकी लोगो की तरह समान रूप से लाभ देना है। ताकि वह भी अपनी तरह से विकसित हो सके। अब तो राज्य सरकार ने यह भी प्रावधान रख दिया है की चाहे कोई भी सरकारी योजना हो, लेकिन अल्पसंख्यक लोगो को भी हर योजना मे 15% लाभ देना होगा। ताकि हर सरकारी योजना का लाभ अब राज्य के अन्य अल्पसंख्यक लोग भी ले सके।

यूपी अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना 2019-20

उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के साथ मिलकर ही, यूपी अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना को शुरू किया है। इस योजना के तहत अल्पसंख्यक वर्ग के लिए मुख्य रूप से 3 छात्रवृति योजनाओ की शुरुआत है।इन तीन छात्रवृतियों मे आपको कक्षा 1 से 10वी तक की स्कालरशिप है।जिसे मैट्रिक पूर्व छात्रवृति कहा जाता है। फिर उसके बाद कक्षा 11 से पीएचडी तक की स्कालरशिप योजना है जिसे मैट्रिकोत्तर छात्रवृति खा गया है। और फिर अंडर ग्रेजुएट एवं स्न्नतकोत्तर स्तर पर तकनीकी और पेशेवर के लिए छात्रवृति है जिसे आप गुणवत्ता एवं साधन छात्रवृति कह सकते है।

यूपी अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना 2019-20

इस योजना के शुरू होने के बाद, अब बहुत से अल्पसंख्यक वर्ग के माता-पिता अपने बच्चो को पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित कर रहे है। एसे मे इन लोगो को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहन मिलने पर, यह लोग रोजगार पाने मे भी सक्षम हो जाएंगे। जिससे की अल्पसंख्यक समुदाए ले लोगो का आर्थिक एवं सामाजिक लाभ होगा। जो भी छात्र अपनी पूर्व कक्षा मे कम से कम 50% अंको के साथ पास हो जाता है उन्हे इस योजना के तहत आगे की कक्षा की पढ़ाई के सकालरशिप प्रदान की जाएगी। इस योजना मे करीब 30% छात्रवृतिया छात्राओ के लिए विशेष रूप से निर्धारित की गई है। और बाकी की सभी छात्र को दी जाएंगी।

उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना की पात्रता

  • इस योजना का लाभ तभी मिलेगी, जब कोई भी छात्र एवं छात्रा अपनी पूर्व परीक्षापास करके अगली कक्षा मे प्रवेश ले लिया हो।
  • छात्रो के माता-पिता की वार्षिक आय 1,00,000 रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • कोई छात्र जो अल्पसंख्यक समुदाय वर्ग से संबंध रखता है, उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना के तहत लाभ लेने केलिए पात्र है।
  • लेकिन एक बात का ध्यान रहे की अल्पसंख्यक वर्ग के होने के साथ साथ, छात्रो का मेधावी होना भी जरूरी है।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य अल्पसंख्यक लोगो को उच्च शिक्षा की तरफ प्रोत्साहित करना है। ताकि माँ-बाप अपने बच्चो की पढ़ाई को केवल पैसो के लिए बीच मे ना रोक दे।
  • आपने अपनी पिछली कक्षा को करीव 50% अंको से पास किया हो, तो आवेदन कर सकते है।

उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना की छात्रवृति राशि

  1. ओबीसी, अल्पसंख्यक एवं सामान्य श्रेणी के छात्रो को हर महीने के हिसाब से 60 रुपए दिये जाएंगे ।
  2. वही दूसरी और अनुसूचित जाती के छात्रो को प्रति माह के हिसाब से 150 रुपए की धनराशि छात्रवृति के रूप मे दी जाएगी।
  3. एससी श्रेणी के छात्रो को 750 रुपए अतिरिक्त छात्रवृति राशि दी जाएगी।
  4. कुल मिलाकर उत्तर प्रदेश समाज कल्याण विभाग छात्रो को प्रति वर्ष के हिसाब से कुल 2250 रुपए से राशि प्रदान करेगा।

उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना ऑनलाइन आवेदन करे

  1. इस योजना के लाभ के लिए सबसे पहले आपको ऑनलाइन आवेदन करना है, जिसके लिए आपको आधिकारिक वैबसाइट पे जाना होगा।
  2. अव यहा पेज पर आपको एक यूपी अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना का फॉर्म दिखाई देगा, उस पर क्लिक कीजिये ।
  3. अब आवेदन फॉर्म आपके सामने खुल जाएगा। इस आवेदन फॉर्म को ध्यान से भरे।
  4. भरने के बाद, सबमिट कर दीजिये।

आशा करते है की आपको उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना की जानकारी अच्छी लगी है। तो इसे पोस्ट को शेयर करना आना भूले। अधिक जानकारी केलिए हमसे बात करे।

Share This Post on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *